लॉकडाउन 2 किन – किन चीज़ो को मिलेंगी छूट , जारी हुई गाइडलाइन

आज जहाँ कोरोना विश्व महामारी बन चूका है अमेरिका जैसा सुपरपावर देश भी कोरोना के चपेट में आ चूका है आज भारत बहुत सारे देशो के मुकाबले अच्छे स्तिथी में है ,लेकिन कुछ लोगो  के  वजह से या ये बोल सकते है  की देश में मुसलमानो के वजह से लॉकडाउन को बढ़ाना पड़ा पहला लॉकडाउन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 24 मार्च को 21 दिनों के लिए रखा और ये लॉकडाउन सफल  हो भी जाता है लेकिन जमातियों के वजह से कोरोना के मरीज़ो का आंकड़ा एक दम से दो गुना बढ़ गया इसलिए 14 अप्रैल को प्रधानमंत्री ने ये लॉकडाउन  19 दिनों के लिए और बढ़ा दिया लेकिन उसके साथ साथ प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी ने  ये भी कहा की 20 अप्रैल से कुछ कुछ चीज़ो में छूट दी जायेगी जिसके लिए गाइडलाइन जारी की जाएगी अब जाहिर सी बात है की सबके मन में ये सवाल है की कौन कौन सी दुकाने खुल सकती है ? किस किस फैक्ट्री में काम चालू हो जायेंगे ? ट्रेन, फ़्लाइट, बस, जहाज़ कब कैसे किस दिन कैसे चलेंगे इस खबर में हम आपको बताएंगे की कौन कौन सी छूट जाएगी आज गृहमंत्रालय  के तरफ से गाइडलाइन जारी  की गयी है गृहमंत्रालय  के तरफ से गाइडलाइन  के हिसाब से ना तो कोई बस चलेगी ना ही कोई गाडी ना ही ट्रेन 20 अप्रैल  के बाद  सिर्फ मालगाड़ी चलेगी जिस से सामान इधर से उधर जा सके दवाइयों की कंपनी को छूट मिलेगी इसके साथ साथ ट्रक को भी छूट दी जाएगी  DTH  टीवी बिजली प्लम्बर वाले को भी छूट दी जाएगी   इसके  साथ ही साथ सभी हॉस्पिटल और क्लिनिक खोले जायेंगे पेट्रोल पंप के साथ साथ . कूरियर सेवाओं को भी छूट दी गयी है और कंस्ट्रक्शन वर्क को भी रियायत दी गयी है किसानो को फसल बोने की काटने की और इसके साथ ही एजेंसी को अनाज  खरीदने के साथ साथ मछली पालन को भी रियायत दी गयी है जो इलाके कोरोना के हॉटस्पॉट है उन्हें कोई छूट नंही दी जायगी बल्कि और ज्यादा शख्ती से पेश आने का आर्डर दिया गया है  जिन इलाको में अब तक एक भी कोरोना के केस नही है उन पर 20 अप्रैल तक निगरानी में रखा जायेगा उसके बाद वहां के माहौल के  अनुसार रियायत दी जाएगी छूट देने से पहले राज्य प्रशासन और जिला प्रशासन हर एक चीज़  का उपाय करेंगे जिस से  गाइडलाइन का अच्छे से पालन हो ताकि ऑफिस फैक्ट्री हर जगह सोशल  डिस्टन्सिंग का नियम अनुसार पालन हो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *