मौलाना साद का आया नया बयान, कहा दिल्ली पुलिस को पता है ‘मेरा’ ठिकाना

तबलीगी जमती के मुखिया मौलाना साद को पछले काई दिनों से दिल्ली पुलिस तलाश रही है, लेकिन अभी तक मौलाना साद का कोई पता नहीं चाला है. तो वही इसके बीच मौलाना साद ने ‘आजतक’ न्यूज़ चैनल से बात चित की और कहा है कि, दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच को पता है की ‘मैं कहा पे हूँ’ और इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने मुझे 2 नोटिस भी भेज चुके है जिसका मैन जवाबा भी दिया है। मौलाना साद ने साथ में ये भी कहा कि मेरे घर की तलाशी भी ली गई है और वो भी मेरे बेटे की मौजूदगी में और साथ ही मुझसे कोरोना जाँच के लिए भी कहा गया था जिसका हमने जाँच भी कराया है, हालांकि जाँच की रिपोर्ट शनिवार को यानि की 25 अप्रैल को आएगी, जिसकी जानकारी दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच को दे दी जाएगी। मौलाना साद ने ये भी कहा कि दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच जो कह रही है, हम उन सब का पालन क्र रहे है।

मौलाना साद की आजतक से बात चीत में ‘ई-मे’ के जरिए उन्होंने सारे सवालों के जवाब देते हुए कहा कि, ‘हमने लॉकडाउन के दौरान मरकज में किसी को इनवाइट नहीं किया था. हमने अपने सारे प्रोग्राम 23 मार्च को यानी लॉकडाउन के पहले ही रद्द कर चुके थे. सभी जमाती लॉकडाउन के काफी पहले मरकज आ गए थे और वो कर्फ्यू व लॉकडाउन की वजह से अपने घर नहीं जा पाए थे.’ साथ ही साथ उन्होंने ये भी कहा कि, ‘जब जनता कफ्यू के दौरान 22 मार्च की रात ढील दी गई थी, तब हमने हजारों जमातियों को शिफ्ट किया था, लेकिन दिल्ली में 23 मार्च को कर्फ्यू लगने से जमाती मरकज में फंसे गए थे. हमने मरकज में फंसे लोगों को उनके ठिकानों तक वापस पहुंचाने के लिए इजाजत भी मांगी थी, लेकिन प्रशासन ने नहीं दी थी.

आप को ये भी बता दे कि, इससे पहले मौलाना साद ने काई ऑडियो भी जारी किया था जिसमे उन्होंने तबलीगी जामत में शामिल लोगों से अपील करते हुए कहा था कि वो जरूरत मंद लोगो की सहायता करे और सरकार का साथ दे कोरोना से लड़ने में. आपको ये भी बता दे मार्च में जलसा का आयोजन किया गया था निजामुद्दीन में जिसके चलते काफी संख्या में लोग आए थे. जिसके कारण काफी भीड़ हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *